IND v AUS 2020: टेस्ट मैचों में विकेट लेने 3 वाले भारतीय

 

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच (IND v AUS 2020) यह बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए मुकाबला होगा, जिसका पहला टेस्ट इसी सप्ताह शुरू होगा। इन दोनों टीमों के बीच अक्सर तीखे मामले होते हैं।

हमने दो प्रमुख क्रिकेट देशों के बीच टेस्ट मैचों में बल्ले और गेंद के बीच कुछ बेहतरीन मुकाबले देखे हैं।

IND v AUS 2020 में अब किस का पलड़ा भारी रहेगा?

भारत और ऑस्ट्रेलिया ने वर्षों में इस खेल को अनुग्रहित करने के लिए कुछ महानतम गेंदबाजों का उत्पादन किया है। विशेष रूप से भारतीय गेंदबाजों ने पिछले कुछ वर्षों में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ काफी सफलता हासिल की है। 

क्या यह इस बार IND v AUS 2020 में मुमकिन है?

यहां हम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैचों में भारत के तीन प्रमुख विकेट लेने वालों पर एक नज़र डालते हैं।


अनिल कुंबले भारत के हैं
अनिल कुंबले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत के अग्रणी विकेट लेने वाले खिलाड़ी हैं

अनिल कुंबले – 111 विकेट

यह अनुमान लगाने के लिए कोई पुरस्कार नहीं है कि शीर्ष स्थान कौन लेता है। भारतीय स्पिन दिग्गज अनिल कुंबले ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिर्फ 20 मैचों में 111 विकेट लिए। लेग-स्पिनर ऑस्ट्रेलिया की पूँछ में एक कांटा था जो लगभग हर बार दोनों पक्षों को मिलता था।

कुंबले ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत के लिए कई मैच विजेता प्रदर्शन दिए। कोई बात नहीं, कुंबले हमेशा एक ऐसा खिलाड़ी थे जिसके खिलाफ ऑस्ट्रेलियाई टीम संघर्ष करती थी। और यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि उनके 619 टेस्ट विकेटों में से लगभग 18% डाउन अंडर से टीम के खिलाफ आए।

कुंबले ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दस-पांच विकेट और दो दस विकेट लिए, जिसमें 8/141 का सर्वश्रेष्ठ रहा, जो 2003/04 बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के दौरान सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में आया।

(इस बार के IND v AUS 2020 में किस का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहेगा कमेंट कर बताये।)


हरभजन सिंह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कई बार अजेय रहे थे

 

हरभजन सिंह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कई बार अजेय रहे थे

हरभजन सिंह – 95 विकेट

कुंबले के ठीक पीछे हरभजन सिंह हैं, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 18 मैचों में 95 चौके लगाए। टर्बनेटर अक्सर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने क्रूर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर था, जिससे भारत टेस्ट क्रिकेट में एक प्रमुख ताकत बन गया।

हरभजन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2001 की श्रृंखला के दौरान अपनी सफलता का आनंद लिया और फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। ऑफ स्पिनर ने सात पांच विकेट लिए, जिसमें 8/84 का सर्वश्रेष्ठ रहा, जो 2001 की श्रृंखला के तीसरे टेस्ट में आया।

उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन दस विकेट लिए हैं। बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के इतिहास में किसी भी खिलाड़ी के पास अधिक नहीं है।

हरभजन सिंह ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की सफलता में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वे सुनिश्चित करते हैं कि उनकी टेस्ट टीम में उनके जैसा कोई व्यक्ति इस श्रृंखला में जा सकता है।

(IND v AUS 2020 इस बार इतिहास कौन रचेगा?)


कपिल देव को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बहुत सफलता मिली

 

कपिल देव को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बहुत सफलता मिली

कपिल देव – 79 विकेट

भारतीय पेसर हमेशा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सफल नहीं रहे हैं। लेकिन कपिल देव के बारे में भी ऐसा नहीं कहा जा सकता है, जिन्होंने ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ 79 विकेट लिए थे – श्रृंखला के इतिहास में किसी भी तेज गेंदबाज से अधिक।

भारत के पूर्व कप्तान ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 20 टेस्ट मैच खेले और उनके विकेट महज 25.35 के औसत से आए। हरभजन की तरह कपिल देव ने भी सात पांच विकेट लिए।

भारत के 1985/86 के ऑस्ट्रेलिया दौरे के हिस्से के रूप में उनका सर्वश्रेष्ठ 8/106 का ड्रा एडिलेड टेस्ट मैच था। कपिल देव ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ 26.42 की औसत से बल्लेबाजी करते हुए एक शतक और तीन अर्द्धशतक बनाए।

इस बार Indai vs Aus 2020 वाकई मे बहुत ही रोमांचक होने वाला है।

यह भी पढ़े: सिर्फ आपको याद दिलाने के लिए

ऑस्ट्रेलिया कर रहा है मदद,मैदान पर हो सकती है युवराज सिंह की वापसी,

(Opens in a new browser tab)

Follow us

https://www.facebook.com/gamming.keeda.9/

Please Share If You Like It!

Leave a Comment